ArchitectureLive!
Architecture and Design Portal from India

स्मार्ट सिटी: आई लव यू

2

Smart city is the new buzz word among architects, planners and everyone else. 100 cities have been proposed to be developed as smart cities by the Govt. of India. Since the definition of a smart city and the actual blueprint for one is still missing, there is great debate and discussion happening over the same. Pulkit Soni comes up with a piece of poetry on smart city, in one of his favorite languages, Hindi.

स्मार्ट सिटी तुम रोज़ मेरे सपनों  में आती हो,

क्यों तुम मुझे इतना सताती हो,

कभी तुम्हारे सीने पे दौड़ती मेट्रो पे सवार होता हूँ,

कभी में दिन में पांच सरकारी दफ्तरों के काम घर बैठ एक ऍप से झटपट करवा लेता हूँ,

तुम्हारे आँचल में  तो गर्मी मुझे झुलसाती है,

 ही गुल बत्तियों के डर से अब शहर की लड़कियां घबराती हैं,

ख़्वाबों में कभी कभी यादों में खो जाता हूँ,

ना दिखते हैं मुझे वह पीक से सड़क लाल करने वाले,

ना बजते हैं कानो में अब वह हॉर्न बेहाल करने वाले,

कभी न्यूज़ पे चिल्लाने वाला अधे उम्र का वह आदमी अब समोसे बड़े लज़ीज़ खिलाता है,

कभी बस्ता लिए स्कूल जाया करता था अब बस मुन्ना कंप्यूटर के आगे सर पैर हिलाता है,

कूड़ा अब बचा नहीं कैसे बताऊंगा मैं कौनसे जानवर सूअर कहलाते थे,

घर घर में अब पाखाने है कैसे समझाऊंगा लोग सडकों पर बोतल लिए लिए कहाँ जाते थे|

स्मार्ट सिटी तुम रोज़ मेरे सपनों में आती हो,

लोग बिना जाने तुम्हें  फेल बताते हैं कुछ नोटों और वोटों का खेल बताते हैं

जलते हैं सब जो ऐसी झूठी बातें फैलाते हैं|

– पुलकित सोनी

You might also like
Subscribe to ArchitectureLive!
Subscribe to keep yourself updated on the latest projects, sories, news, events and jobs related to architecture
You can unsubscribe at any time
2 Comments
  1. B S Keshav says

    Nice…I’m a little Hindi-challenged, but could get the gist pretty well. Good show! 🙂

  2. shorya says

    Cool…I believe in the dream as well but not handicapped dream…very well written!! Good going!

Leave a Reply